ब्रेकिंग न्यूज
logo
add image
Blog single photo

काम करने वाली और घोषणा करने वाली सरकार का अंतर जनता समझ रही है - पारस जैन

उज्जैन। मध्यप्रदेश के वर्तमान हालात कुछ ऐसे है की कोई भी अधिकारी या कर्मचारी ये नहीं कह सकता की कल की नौकरी वो कहाँ करेगा। पूरे प्रदेश मे अस्थिरता का माहोल है जिसके चलते अधिकारी, कर्मचारी अपने कर्तव्य का निर्वहन पूरी क्षमता से नहीं कर पा रहे और प्रदेश की प्रशासनिक व्यवस्था ध्वस्त हो रही है। 
यह कहना है भारतीय जनता पार्टी नगर अध्यक्ष विवेक जोशी का। वे आज लोकशक्ति भवन में पत्रकारों को संबोधित कर रहे थे। उल्लेखनीय है कि पूरे प्रदेश में जिलास्तर पर प्रदेश सरकार की 6 माह की नाकामियों को जनता के समक्ष उजागर करने हेतु पत्रकार वार्ता आयोजित की गई थी। इसी तारतम्य में उज्जैन में भी स्थानीय भाजपा कार्यालय पर पत्रकारवार्ता आयोजित की गई जिसमे प्रमुख रूप से जिलाध्यक्ष विवेक जोशी, विधायक पारस जैन, जगदीश अग्रवाल, महापौर श्रीमती मीना जोनवाल, सुरेश गिरि आदि शामिल हुए।
विवेक जोशी ने पत्रकार वार्ता को संबोधित करते हुए कहा की वादा खिलाफी इस सरकार की कार्यशैली का महत्वपूर्ण अंग है। फिर वो किसानों से किया कर्जमाफी का वादा हो, युवाओं से किया गया बेरोजगारी भत्ते का वादा हो, छात्राओं से किया गया स्कूटी का वादा हो या फिर इस प्रदेश की 7 करोड़ जनता से किया गया सुशासन का वादा हो। प्रत्येक मुद्दे पर ये सरकार विफल साबित हुई है।  श्री जोशी ने सरकार को घेरते हुए कहा की बात तो 10 दिन में कर्जामाफी की थी अन्यथा मुख्यमंत्री बदल देंगे कहा था। क्या प्रदेश सरकार के 10 दिन पूरे नहीं हुए? क्योंकि धरातल पर तो कर्जमाफी जैसा कोई कार्य हुआ दिखता नहीं है, आज भी बैंकों के नोटिस किसानों को प्राप्त हो रहे है और किसान आज भी कर्जमाफी की बाट जो रहा है। श्री जोशी ने कहा की प्रदेश में सारी व्यवस्थाए धव्स्त है और सरकार अपनी झूठी प्रशंसा करते हुए खुद की पीठ थपथपाने मेें लगी है। प्रदेश मे बिजली की कोई कमी नहीं है अगर कहीं कमी है तो वो दृढ़ इच्छाशक्ति, नेक नियत एवं सरकार के प्रबंधन मे कमी है। वहीं इस कुप्रबंधन का  ठिगरा मुख्यमंत्री और उनके मंत्रीगण कर्मचारियों के सर फोडऩे का का कार्य कर रहे है जिसके चलते सेकड़ोंं कर्मचारियों की सेवाए समाप्त कर उन्हे घर बेठा दिया गया। ये कार्य सरकार की खीज और कर्मचारी विरोधी नीतियों को प्रदर्शित करता है ।
विकास कार्यों मे पिछड़ा प्रदेश  
उज्जैन उत्तर के विधायक पारस जैन ने कहा की जो प्रदेश आज से मात्र 6 माह पहले कई आयामों मे अव्वल हुआ करता था वर्तमान सरकार की नीतियों के चलते निरंतर पिछड्ता हुआ पुन: बीमारू राज्य बनने की और अग्रसर है। इस सरकार ने किसान, गरीब, मजदूर, मध्यमवर्गीय सहित समूचे प्रदेश की जनता को ठगने का कार्य किया है, आज प्रदेश मे बिजली संकट गहराया है, जल संकट से आमजन जूझ रहा है, अपराध चरम पर है, फिरोती अपहरण लूट हत्या और दुष्कर्म जैसे अपराध प्रदेश सरकार की सरपरस्ती में फलफूल रहे हैं। श्री जैन ने प्रदेश सरकार की नाकामिया गिनवाते हुए कहा की कभी प्रधानमंत्री आवास योजना मे अव्वल रहा मध्यप्रदेश आज पिछड़ रहा है, क्योंकि प्रदेश सरकार अपना अंशदान उपलब्ध नहीं कर रही है जिसके चलते नए आवासों की उपलब्धता पर भी संशय की स्थिति बनी हुई है।

ताजा टिप्पणी

टिप्पणी करे

Top