ब्रेकिंग न्यूज
logo
add image
Blog single photo

जिला पंचायत पर फिर कांग्रेस का कब्जा

करण कुमारिया बने जिला पंचायत के अध्यक्ष पराग पांचाल, उज्जैन। बुधवार को भारी कश्मकश के बीच हुए जिला पंचायत के चुनाव में कांग्रेस ने एक बार फिर बाजी मार ली है। यहां कांग्रेस के कर्मठ एवं मिलनसार जिला पंचायत सदस्य करण कुमारिया को जिला पंचायत अध्यक्ष चुना गया है। कुमारिया को जहां 10 वोट मिले हैं वहीं प्रतिद्वंदी को 9 वोट हासिल हुए है। यहां पर कांग्रेस पार्टी के ही जिला पंचायत अध्यक्ष महेश परमार द्वारा तराना विधानसभा से चुनाव लड़े जाने से यह सीट रिक्त हुई थी। भारी कशमकश और सुरक्षा के बीच हुए जिला पंचायत अध्यक्ष पद के चुनाव में कांग्रेस के करण कुमारिया ने बीजेपी के अपने प्रतिद्वंद्वी को एक मत से हराकर जिला पंचायत अध्यक्ष पद की कुर्सी पर कब्जा जमा लिया। करण कुमारिया के 10 वोट मिले जबकि बीजेपी के उनके प्रतिद्वंद्वी को 9 वोट ही मिल सके। दरअसल जिला पंचायत 21 सदस्यों में 19 सदस्य ही मतदान के लिए अधिकृत थे। बताया जाता है कि इसमें से बीजेपी के 10 तथा कांग्रेस के 9 सदस्य थे। लेकिन आज हुए अध्यक्ष पद के चुनाव में कांग्रेस ने बीजेपी की भीतरघात का फायदा उठाकर एक भाजपा जिला पंचायत सदस्य का वोट हासिल कर एक बार फिर जिला पंचायत अध्यक्ष का पद हथिया लिया। कांग्रेस की जीत से एक बात साफ हो गई है कि प्रदेश में कमलनाथ के नेतृत्व में कांग्रेस की सरकार बनते ही भाजपाइयों का भाजपा से मोहभंग होता जा रहा है। बुधवार को उज्जैन जिला पंचायत अध्यक्ष पद के चुनाव में इसी का नजारा दिखा और सदस्य सं या अधिक होने के बाद भी भाजपा जिला पंचायत अध्यक्ष पद का चुनाव हार गई। यहाँ आपको बता दें कि 21 सदस्यीय उज्जैन जिला पंचायत में कांग्रेस के 11 और बीजेपी के10 सदस्य थे और अध्यक्ष और उपाध्यक्ष दोनों पदों पर कांग्रेस काबिज थी लेकिन जिला पंचायत अध्यक्ष महेश परमार के तराना से विधानसभा चुनाव जीतने और उपाध्यक्ष भरत पोरवाल के अयोग्य घोषित होने से कांग्रेस की सदस्य सं या घट का 9 रह गई थी। लेकिन इसके बाद भी कुशल चुनाव प्रबंधन के चलते कांग्रेस ने सं या बल कम होने के बाद भी जिला पंचायत अध्यक्ष पद के उप चुनाव में जीत हासिल कर ये साबित कर दिया है कि अगर कांग्रेसी एकजुट होकर चुनाव लड़े तो उसे हराना मुश्किल ही नहीं नामुमकिन है। जिला पंचायत अध्यक्ष चुने गए करण कुमारिया के मुताबिक सभी कांग्रेसी विधायकों और जिला अध्यक्ष कमल पटेल की कुशल चुनावी रणनीति से जीत हुई है। उन्होंने सभी को धन्यवाद दिया है।

ताजा टिप्पणी

टिप्पणी करे

Top