ब्रेकिंग न्यूज
logo
add image
Blog single photo

उज्जवला योजना से गरीबों के चेहरे पर मुस्कान


उज्जैन। प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के अन्तर्गत गरीब महिलाओं को नि:शुल्क गैस कनेक्शन पूरे देश में उपलब्ध कराया जा रहा है। ग्राम स्वराज अभियान के तहत उज्जैन के विक्रम कीर्ति मन्दिर में उज्ज्वला दिवस मनाया गया। उज्जैन-आलोट संसदीय क्षेत्र के सांसद प्रो.चिन्तामणि मालवीय ने इस अवसर पर कहा कि गरीबों के जीवन में परिवर्तन लाना सरकार का मुख्य उद्देश्य है। उज्ज्वला योजना से महिलाओं को नि:शुल्क गैस टंकी एवं चूल्हा वितरण करने से उनके चेहरे पर सहज मुस्कान दिखाई दे रही है। पूरे देश में शुक्रवार 20 अप्रैल को उज्ज्वला दिवस मनाया जा रहा है। उज्जैन जिले में भी लगभग 50 स्थानों पर उज्ज्वला दिवस मनाया गया। बताया गया कि प्रथम चरण में उज्जैन जिले के 59 गांव के घरों को धुंआरहित करने का लक्ष्य रखा गया है।
सांसद प्रो.मालवीय ने कहा कि देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की महत्वपूर्ण योजना में से एक प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना है। योजना के तहत शासन ने धुंआरहित गैस कनेक्शन नि:शुल्क उपलब्ध कराने का बीड़ा उठाया है। योजना बनाने के पूर्व प्रधानमंत्री ने देश के सम्पन्न लोगों से आग्रह किया था कि वे गैस की सब्सिडी छोड़ें, ताकि जिन गरीबों के घरों में गैस कनेक्शन नहीं हैं, उन्हें नि:शुल्क गैस कनेक्शन उपलब्ध कराया जा सके। सांसद ने बताया कि प्रधानमंत्री के आव्हान से देश के 1 करोड़ 36 लाख से अधिक लोगों ने सब्सिडी छोड़ी। इससे गरीबों के जीवन में परिवर्तन लाकर गैस कनेक्शन उपलब्ध कराने का सिलसिला जारी है। शासन की योजनाओं का लाभ अब सीधे हितग्राहियों के बैंक खातों में पहुंच रहा है। बिचौलियों का कोई किसी प्रकार का दखल अब नहीं है। गैस घर-घर पहुंचाने हेतु पाईप लाईन का भी कार्य तेज गति से चल रहा है। लाखों घरों में पाईप लाईन के माध्यम से गैस पहुंचाने का कार्य किया जायेगा। स्वच्छ भारत मिशन का जिक्र करते हुए सांसद प्रो.मालवीय ने कहा कि देश में करोड़ों घरों में शौचालयों का निर्माण कराया जा रहा है। देश में नि:शुल्क गैस एवं चूल्हा गरीबों को उपलब्ध कराने के लिये 5 करोड़ का लक्ष्य निर्धारित किया गया था, उसे अब सरकार ने बढ़ाकर 8 करोड़ कर दिया है।
उज्ज्वला योजना में अभी तक जिले में 65 हजार से अधिक हितग्राहियों को गैस चूल्हा वितरण-सांसद प्रो.चिन्तामणि मालवीय ने कार्यक्रम में जानकारी देते हुए बताया कि उज्जैन जिले में 1 लाख 43 हजार हितग्राही योजना अन्तर्गत चिन्हत हैं। इनमें से 86 हजार 974 केवायसी हितग्राही हैं। उज्ज्वला योजना के लिये 66 हजार 759 हितग्राही पात्र हैं और अभी तक जिले में 65 हजार 507 हितग्राहियों को गैस एवं चूल्हा नि:शुल्क वितरित किया गया है। उल्लेखनीय है कि उज्जैन जिले में कुल 4 लाख 50 हजार परिवार हैं। इनमें एलपीजी कनेक्शनधारी हितग्राही जिले में 3 लाख 90 हजार हैं। जिले में 87 प्रतिशत एलपीजी गैस कनेक्शनधारी हितग्राही हैं।
कार्यक्रम में विधायक डॉ.मोहन यादव, यूडीए अध्यक्ष जगदीश अग्रवाल, सुल्तानसिंह शेखावत, विज्ञान कुमार आदि ने उज्ज्वला योजना के बारे में अपने-अपने विचार प्रकट करते हुए कहा कि उक्त योजना गरीबों के कल्याण के लिये है और महिलाओं को धुंए से राहत मिलेगी। उन्होंने कहा कि पहले गैस कनेक्शन लेने के लिये कठिनाईयों का सामना करना पड़ता था, परन्तु अब गरीबों को फ्री में गैस एवं चूल्हा नि:शुल्क उपलब्ध कराया जा रहा है। इस योजना से गरीब महिलाओं के चेहरे पर संतोष की लकीरें स्पष्ट दिखाई दे रही हैं। शासन का मुख्य उद्देश्य है सबका विकास होगा तभी देश-प्रदेश का विकास होगा।
कार्यक्रम में महाकाल इण्डेन सर्विस के भगवानदास ऐरन ने बताया कि उज्ज्वला दिवस का आयोजन पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस भारत सरकार के निर्देश अनुसार किया जा रहा है। एलपीजी पंचायत के आयोजन में 100 गरीब महिलाओं को उज्ज्वला गैस कनेक्शन प्रदान किया गया। इसमें प्रतीकस्वरूप अतिथियों के द्वारा 10 महिलाएं यथा- अमरीबाई, रचनाबाई, अन्नूबाई, ममताबाई, ललिताबाई, रूकसानाबी, कलाबाई, भूरीबाई, शाहिदाबी को गैस टंकी एवं चूल्हा नि:शुल्क उपलब्ध कराया गया। कार्यक्रम का संचालन भगवानदास ऐरन ने किया और अन्त में आभार आलोक ऐरन ने माना।



ताजा टिप्पणी

टिप्पणी करे

Top